हास्य योग, Comic Yoga

https://www.yogadeyy.com/2020/01/comic-yoga

हमको सिर्फ हँसना और हंसाना है : हा-हा-हा....ही-ही- ही....हो-हो-हो-हो...... आज के जनमानस को देखकर ऐसा प्रतीत होता है वह हंसना भी भूल गया है जबकि हंसना शरीर व स्वास्थ्य के लिए उतना ही महत्वपूर्ण है जितना की भोजन ! मनुस्य धीरे-धीरे कई प्राकृतिक चीज़ें भूलता जा रहा है जिसके परिणामस्वरूप उसके अंदर कई प्रकार की विकृतियां आती जा रही हैं ! कई व्यक्ति तो सिर्फ इसलिए नहीं हँसते कि कहीं कोई उन्हें 'गंभीरता रहित' (मजाकिया) समझ ले ! व्ही कुछ धनवान व्यक्ति या उच्च पदाधिकार भी स्वयं से निम्न श्रेणी के कर्मचारियों के साथ चाहते हुए भी नहीं हँसते क्योकि उनका विचार है कि 'यदि मई भी इनके साथ हँसूँगा तो कहीं ये लो लोग अपने स्तर का ना समझ लें' ! यही साडी बातें निर्थक हैं ! हंसने के साथ कई प्रकार की बाते घटित होती हैं ! पूरा परिवेश बदल जाता है पूरा वातावरण निर्मल मन की सुगंध से सुगंधित हो जाता है ! हर व्यक्ति के चेहरे पर मुस्कान छा जाती है ! पूरे शरीर में एक प्रकार का कम्पन होता है जिससे पूरा उदर प्रदेश (पेट) प्रभावित होता है और पाचनतंत्र की समस्त सुचारु रूप से काम करने लगती हैं ! श्वाश की गति नियंत्रित होती है जिससे निम्न रक्त्चाप एवं उच्च रक्त्चाप वालो को उचित लाभ मिलता है ! फेफड़ों में हवा के प्रकोष्ठ द्वारा अंतर् का वातावरण निर्मल होता है ! रक्त का संचार तेज़ होने से ह्रदय प्रदेश की कार्यप्रणाली सुसंचरित होती है ! पूरी ७२००० नाड़ियाँ खुल जाती हैं ! इस कारण कई प्रकार के व्यायाम का लाभ स्वतः ही मिल जाता है ! यदि आप हँसते हैं तो सामने वाला व्यक्ति भी हँसता है ! आप मुस्कुराते हैं तो सामने वाला व्यक्ति भी मुस्कुराता है ! कोई भी व्यक्ति कितना ही क्रोध में क्यों न हो, आपकी स्टीक मुस्कुराट से वह  भी प्रशन्नचित्त हो जाता है ! कई कठिन से कठिन काम आसान हो जाते हैं ! खुलकर जी भर कर हंसें- इससे जीवन में कई प्रकार की परेशानियों एवं तनावों से मुक्ति मिलती है ! आपके अंदर एक नई ऊर्जा का संचार होता है ! यह एक प्राकृतिक चिकित्सा है जो आपके के अंदर की मनहूसियत एवं नकारत्मकता को दूर फेंक देती है !

हास्य योग

शायद दुनिया की यही एक मात्र ऐसी क्रिया है, जिसका बिना पैसों के ही आदान-प्रदान हो सकता है ! इस क्रिया को जितना बाँटेंगे उतनी ही यह बढ़ती है ! यह सामाजिक परिवेश को को भी मजबूती प्रदान करती है क्योकि जब आप समूह में हँसते हैं तो आपको महसूस होता है की आप अकेले नहीं हैं वरन आपके साथ शिष्टाचारी लोग भी हैं ! यदि आपके चेहरे पर हमेशा मुस्कुराहट रहती है तो आपके कहीं भी पहुँचने पर वहां मौजूद लोगो के चेहरे पर मुस्कुराहट आ जाती है और वहाँ का माहौल भी खुशनुमा हो जाता है !
https://www.yogadeyy.com/2020/01/comic-yoga

हंसने से क्रोध समाप्त होता है ! आपका अहंकार स्वयं चला जाता है ! लोभ और मोह दोनों का लोप हो जाता है ! आपके अंदर करूंणा आती है ! आप मार्दव, आर्जव, शौंच, संयम, तप, त्याग, अकिंचन और आत्म-अनुशीलन के रस्ते पर चलने को उतकंठित हो जाते हैं ! इस प्रकार से आप कहीं धर्मिकता को भी स्पर्श कर लेते हैं !

आइये हम सब मिलकर हंसने और हंसाने को अपने जीवन का अंग बनायें और अपने शरीर, मन, आत्मा का ही नहीं बल्कि पड़ोस, समाज, देश व समस्त विश्व को आनंद, प्रसन्नता व निर्मलता से परिपूर्ण कर दें !
आईए अब हंसें! हा-हा-हा.....हो-हो-हो......ही-ही-ही......!

             Comic Yoga

https://www.yogadeyy.com/2020/01/comic-yoga

We just have to laugh and laugh: Ha-ha-ha .... hee-hee-hee .... ho-ho-ho-ho ...... It looks like laughing even after seeing today's public Forgotten while laughing is as important to the body and health as food. Manu is slowly forgetting many natural things, which results in many kinds of distortions in him. Many people do not laugh just because someone considers them 'seriously' (funny). Some rich people or high officials do not even laugh at themselves with their lower-class employees, because they think that if I may laugh with them, then these people don't understand their status. These simple things are meaningless. Many kinds of things happen with laughing. The whole environment changes, the whole atmosphere becomes fragrant with the aroma of a pure mind. Every person has a smile on his face. There is a type of vibration in the whole body, which affects the entire abdominal area (stomach) and the digestive system starts functioning smoothly. The speed of the breath is controlled, so that people with low blood pressure and high blood pressure get proper benefits. The air environment in the lungs is purified by the internal atmosphere. Due to fast circulation of blood, the functioning of the heart region is structured. Complete 72000 nadis open. For this reason, the benefits of many types of exercise are found automatically. If you laugh then the person in front also laughs. When you smile, the person in front smiles too. No matter how angry a person is, your steak smile makes him happy too. Many difficult tasks become easy. Laugh openly and lively - this gives freedom from many kinds of problems and stresses in life. There is a new energy in you. This is a natural medicine that throws away the wretchedness and negativity inside you. Perhaps this is the only action in the world that can be exchanged without money. The more we share this action, the more it grows. It also strengthens the social environment because when you laugh in a group, you feel that you are not alone, but you are well-mannered. If there is always a smile on your face, then when you reach anywhere, the smile present on the face of the people present there, and the atmosphere there is also happy.
https://www.yogadeyy.com/2020/01/comic-yoga

Laughing ends anger.Your ego is gone. Greed and fascination are both lost. I love you. You get excited to walk on the path of Mardava, Arjava, Shauncha, Abstinence, Tenacity, Renunciation, Unseen and Self-practice. In this way, you also touch righteousness somewhere.

Let us all make laughter and laughter a part of our life and fill not only our body, mind, soul but also the neighborhood, society, country and the whole world with joy, happiness and cleanliness.
Come laugh now! Ha-ha-ha… ho-ho-ho …… hee-hee-hee ……!

Post a Comment

1 Comments